भवानीपुर उपचुनाव से पहले EC पहुंची बीजेपी, कहा- धारा 144 लगाएं और केंद्रीय बल हो तैनात

0
651

 नई दिल्ली 
भवानीपुर उपचुनाव के लिए कल प्रचार का अंतिम दिन था और कल के ही दिन कोलकाता में बीजेपी और टीएमसी के कार्यकर्ताओं में भिड़ंत हो गई। इस दौरान भाजपा के पूर्व अध्यक्ष दिलीप घोष के साथ धक्का-मुक्की भी की गई। अब इस बवाल को लेकर बीजेपी ने चुनाव आयोग का रूख कर लिया है। भाजपा के एक प्रतिनिधिमंडल ने कोलकाता में चुनाव आयोग के अधिकारियों से मुलाकात की और 30 सितंबर को उपचुनाव के दिन भवानीपुर निर्वाचन क्षेत्र में धारा 144 लागू करने की अपील की है। इसके साथ ही भाजपा ने बूथों के अंदर केंद्रीय बलों की मौजूदगी की भी मांग की।

भाजपा प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व स्वप्न दासगुप्ता ने किया और इसमें शिशिर बाजोरिया और प्रताप बनर्जी भी शामिल थे। भाजपा नेता दिलीप घोष ने दावा किया था कि भवानीपुर में एक चुनाव प्रचार के दौरान सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस के सदस्यों द्वारा उन पर हमला किया जिसके कुछ घंटे बाद यह बैठक हुई। भाजपा प्रतिनिधिमंडल ने यह भी मांग की कि बूथों के अंदर केंद्रीय बल मौजूद रहें और कोलकाता पुलिस को भवानीपुर में सुरक्षा व्यवस्था में सक्रिय भागीदारी न ले।

हाल ही में, भाजपा ने भी चुनाव आयोग को पत्र लिखकर आरोप लगाया था कि 23 सितंबर को कोलकाता पुलिस के डीसीपी साउथ द्वारा भवानीपुर की उनकी उम्मीदवार प्रियंका टिबरेवाल पर "हमला और छेड़छाड़" की गई थी।

चुनाव आयोग को सौंपे गए पत्र में उल्लेख किया गया है: "हमारी उम्मीदवार श्रीमती प्रियंका तेबरेवाल और सांसद डॉ सुकांत मजूमदार प्रदेश अध्यक्ष, श्री ज्योतिर्मय सिंह महतो और श्री अर्जुन सिंह के साथ छेड़छाड़ और शारीरिक हमला हुआ। यह पत्र आवश्यक कार्रवाई और आपके हस्तक्षेप के लिए है और आपके तत्काल ध्यान में लाने के लिए है कि एक स्वतंत्र और निष्पक्ष चुनाव को रोकने के लिए और चुनाव के दौरान अशांति पैदा करने के इरादे से खुले तौर पर उल्लंघन किया गया है।"
 
 पार्टी ने मांग की कि डीसीपी साउथ, आकाश मघरिया और मौके पर मौजूद कोलकाता पुलिस के अन्य अधिकारियों की पहचान की जाए और उन्हें तुरंत चुनाव ड्यूटी से हटाया जाए। उन्होंने अधिकारियों को निलंबित करने की भी मांग की।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here