कृषि मंत्री ने दिया राकेश टिकैत को दिया बातचीत का प्रस्ताव

0
111

  नई दिल्ली

कृषि कानूनों के विरोध में दिल्ली बॉर्डर पर किसानों का प्रदर्शन अब भी जारी है. संयुक्त किसान मोर्चा द्वारा आज सुबह 6 बजे से शाम 4 बजे तक भारत बंद बुलाया गया है. गाजीपुर बॉर्डर पर NH-9, NH-24 को किसानों ने जाम कर दिया है. किसान संगठन से जुड़े नेता यहां पर जम गए हैं. गाजीपुर बॉर्डर के अलावा किसानों ने शंभू बॉर्डर भी जाम कर दिया है.

इस दौरान किसान नेता राकेश टिकैत ने कृषि मंत्री के बातचीत के जरिए रास्ता निकालने के बयान पर सवाल किया गया, तो उन्होंने कहा कि कृषि मंत्री रट्टू हैं. टिकैत ने कहा कि अगर सरकार कानून में दस साल में सुधार करेगी तो ये आंदोलन 10 साल तक जारी रहेगा. हम वापस नहीं जाएंगे.

टिकैत ने कहा कि किसी के विचार को आप विचार से ही बदल सकते हो बंदूक की ताकत से आप विचार नहीं बदल सकते. कृषि मंत्री को लेकर उन्होंने कहा कि वो रट्टू हैं, जैसे बचपन में पढ़ाया गया था. जो पढ़ लिया उतना ही बोलेगा उससे ज्यादा बोलेगा ही नहीं. टिकैत ने कहा कि वो कहते हैं कि कानून वापसी नहीं लेंगे संशोधन पर बात करनी है, बात कर लो.

बता दें कि केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र तोमर ने कहा है कि केंद्र सरकार किसानों की ओर से उठाए जाने वाले किसी भी मसले पर चर्चा के लिए तैयार है. तोमर ने बातचीत का रास्ता अपनाने की अपील की है.

गौरतलब है कि किसानों को दिल्ली की सीमा पर धरना देते हुए 300 दिन से अधिक हो चुके हैं. किसान नेताओं और सरकार के प्रतिनिधियों के बीच 10 दौर की बातचीत भी हुई थी जो बेनतीजा रही थी. जनवरी महीने में किसानों और सरकार के बीच अंतिम दफे बातचीत हुई थी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here