गंगा महिला स्व सहायता समूह की सदस्य आशा हार्डवेयर एवं चप्पल दुकान संचालन से बनी कुशल व्यवसायी, हुआ 70 हजार रुपए तक का लाभ

0
161

कोरिया
शासन की महत्वकांक्षी योजना छत्तीसगढ़ ग्रामीण आजीविका मिशन से ग्रामीण क्षेत्रों की महिलाओं ने  आत्मनिर्भर बन सफलता की ओर अपने कदम बढ़ाए हैं। कल तक घर मे रहकर अपनी छोटी-छोटी आवश्यकताओं के लिए परिवारजनों पर निर्भर रहने वाली ये महिलाएं आज बिहान योजना के तहत स्वावलंबी बनी है।

जिले के सोनहत विकासखण्ड के पुसला ग्राम में गठित गंगा महिला स्व सहायता समूह की सदस्य श्रीमती आशा जायसवाल हार्डवेयर एवं चप्पल दुकान का संचालन कर आर्थिक एवं सामाजिक रूप से सशक्त बनी हैं। समूह की दीदी आशा जायसवाल बताती हैं कि जून 2019 में उन्होंने संयुक्त रूप से हार्डवेयर एवं चप्पल दुकान का काम प्रारंभ किया। आज दो साल से बिना किसी परेशानी और रुकावट के आशा दुकान का काम कर रही हैं और इस आजीविका से अब तक 70 हजार रुपय का शुद्ध लाभ हुआ है।

बिहान योजनांतर्गत टीम से मार्गदर्शन मिलने के उपरांत समूह की महिलाओं द्वारा गतिविधि का चयन किया जाता है जिससे समूह की महिलाएं आत्मनिर्भर बन रही है एवं उन्हें रोजगार का एक अच्छा साधन प्राप्त होने से समाज में उन्हें एक नई पहचान मिली है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here