मोहम्मद अली जिन्ना की मूर्ति को बलूच विद्रोहियों ने बम से उड़ाया

0
181

इस्लामाबाद
पाकिस्तान के ग्वादर शहर में बलूच विद्रोहियों ने बम से हमला कर संस्थापक मोहम्मद अली जिन्ना की प्रतिमा को नष्ट कर दिया। इसकी जिम्मेदारी प्रतिबंधित बलूच लिबरेशन फ्रंट ने ली है। पाकिस्तानी अखबार डॉन की रिपोर्ट के मुताबिक सुरक्षित क्षेत्र माने जाने वाले मरीन ड्राइव पर जून में स्थापित की गई प्रतिमा को रविवार की सुबह बलूच विद्रोहियों ने विस्फोटकों से उड़ा दिया। रिपोर्ट के अनुसार इस विस्फोट में मूर्ति पूरी तरह से नष्ट हो गई।

वहीं बीबीसी उर्दू की रिपोर्ट के अनुसार प्रतिबंधित उग्रवादी संगठन बलूच रिपब्लिकन आर्मी के प्रवक्ता बबगर बलूच ने ट्विटर पर विस्फोट की जिम्मेदारी ली है। बीबीसी उर्दू ने ग्वादर के उपायुक्त मेजर (सेवानिवृत्त) अब्दुल कबीर खान के हवाले से कहा कि मामले की उच्चतम स्तर पर जांच की जा रही है।

पूर्व मेजर अब्दुल कबीर खान ने कहा कि सभी विद्रोही पर्यटकों के रूप में क्षेत्र में प्रवेश  किए थे और विस्फोटक लगाकर जिन्ना की प्रतिमा को नष्ट कर दिया। उनके मुताबिक अभी तक किसी की गिरफ्तारी नहीं हुई है लेकिन एक-दो दिन में जांच पूरी कर ली जाएगी। उन्होंने कहा कि मामले को सभी कोणों से देखा जा रहा है और जल्द ही दोषियों को पकड़ लिया जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here