बैकफुट पर कांग्रेस, पंजाब चुनाव में चेहरे को लेकर देनी पड़ गई सफाई

0
156

 नई दिल्ली 
पंजाब कांग्रेस में कलह को शांत करने के लिए पार्टी ने बड़ा फेरबदल करते हुए चरणजीत सिंह चन्नी को नया मुख्यमंत्री बना दिया है। हालांकि, इसके बावजूद कांग्रेस के पंजाब प्रभारी हरीश रावत के एक कथित बयान ने पार्टी में बवाल खड़ा कर दिया। रावत ने यह बयान दे दिया था कि राज्य में अगले चुनाव के लिए सिद्धू चेहरा होंगे। इस बयान पर पूर्व प्रदेश अध्यक्ष सुनील जाखड़ ने खुल कर नाराजगी जताई थी। हालांकि, विवाद बढ़ता देख पार्टी बैकफुट पर आई और स्पष्ट किया कि राज्य में अगले विधानसभा चुनाव में चरणजीत सिंह चन्नी मुख्यमंत्री के तौर पर और प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष के रूप में नवजोत सिंह सिद्धू चेहरा होंगे। 

पार्टी के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने यह उम्मीद भी जताई कि पूर्व मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह का आशीर्वाद इस नई सरकार को मिलता रहेगा। रावत के कथित बयान को लेकर सुरजेवाला ने संवाददाताओं से कहा, 'मैंने हरीश रावत जी से बात की है। कई दोस्त उनकी बात को जाने-अनजाने सही नजरिए से नहीं देख पाए। मैं फिर दोहरा रहा हूं कि हमारे मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी हैं। प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष सिद्धू हैं। सरकार के मुखिया के तौर पर चेहरा चन्नी हैं। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष के तौर पर सिद्धू चेहरा हैं। ये दोनों आम कार्यकर्ता के साथ मिलकर लड़ेंगे तथा कांग्रेस की फिर से सरकार बनेगी।' सुरजेवाला ने आरोप लगाया कि आम आदमी पार्टी, अकाली दल और भाजपा दलित के बेटे का अपमान कर रहे हैं।
 
 रावत ने शनिवार को कथित तौर पर कहा था कि अगले साल पंजाब विधानसभा चुनाव सिद्धू के नेतृत्व में लड़ा जाएगा। पंजाब प्रदेश कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष सुनील जाखड़ ने रावत के इस कथित बयान पर सवाल उठाए और कहा कि इससे मुख्यमंत्री के अधिकारों के 'कमजोर' होने की आशंका है। 

अमरिंदर सिंह की नाराजगी के बारे में पूछे जाने पर सुरजेवाला ने कहा, ''कैप्टन अमरिंदर सिंह जी हमारे बुजुर्ग हैं। उनकी अगुवाई में कांग्रेस की सरकार ने बेहतरीन काम किया। छोटे-मोटे मतभेद हो सकते हैं। मुझे विश्वास है कि उनका आशीर्वाद और समर्थन कांग्रेस की सरकार पर बना रहेगा।'' कांग्रेस कहासचिव ने कहा, ''मुख्यमंत्री बनते ही चन्नी जी ने पहला निर्णय किसानों, दलितों और ओबीसी के पानी एवं सीवरेज के बिल माफ करने का किया है। आगे कई ऐतिहासिक निर्णय होंगे।''

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here