दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेसवे का काम तीन महीने पहले होगा पूरा

0
162

नई दिल्ली 
दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेसवे का काम तीन महीने पहले यानी इसी वर्ष दिसंबर तक पूरा हो जाएगा। नेशनल हाईवे अथॉरिटी ऑफ इंडिया (एनएचएआई) ने चिपियाना ओवर ब्रिज का काम तीन महीने के अंदर पूरा करने का लक्ष्य रखा है। इसके तैयार हो जाने पर पूरे एक्सप्रेसवे पर बिना रुके सफर कर सकेंगे। आरओबी बनने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के हाथों एक्सप्रेसवे का उद्घाटन कराया जाएगा। इसलिए मंत्रालय चाहता है कि जल्द से आरओबी तैयार हो। अब नई समय-सीमा पर निर्माण पूरा करने को लेकर एजेंसी ने भी सहमति दे दी है। साथ ही भरोसा दिया है कि उसकी कोशिश दिसंबर से पहले निर्माण पूरा करने की रहेगी। चिपियाना ओवर ब्रिज (आरओबी) तैयार होने पर एक्सप्रेसवे पर जाम का झंझट खत्म हो जाएगा। एक्सप्रेसवे के दूसरे चरण (यूपी गेट-डासना) के बीच बन रहे चिपियाना आरओबी को छोड़कर बाकी हिस्से का काम पूरा हो चुका है। अलीगढ़ रेल लाइन पर बन रहे चिपियाना आरओबी के एक हिस्से का आरओबी (छह लेन) का तैयार हो चुका है, जिस पर ट्रैफिक चल रहा है। जबकि दूसरी तरफ के आरओबी पर काम चल रहा है, जिस पर गार्डर रखे जाने के बाद ऊपर के हिस्से में सड़क तैयार करने का काम जारी है। एनएचएआई अधिकारियों का कहना है कि आरओबी तैयार करने में अब कोई तकनीकी बाधा नहीं है। इसलिए निर्धारित समय सीमा के अंदर आरओबी तैयार हो जाएगी। इसके बाद एक्सप्रेसवे पर यातायात के लिए सभी लेन उपलब्ध होंगी। एनएचएआई के प्रोजेक्ट डायरेक्टर मुदित गर्ग का कहना है कि चिपियाना आरओबी पर तेजी से काम चल रहा है। दिसंबर तक नया आरओबी पूरी तरह से तैयार हो जाएगा। थोड़ा बहुत काम अगर बचा तो पुराने आरओबी पर रहेगा लेकिन उसे भी निर्धारित अवधि में पूरा करने का लक्ष्य रहेगा। निर्माण एजेंसी ने काफी तेजी से काम किया है, जिसके चलते अब दिसंबर तक आरओबी की सभी लेन का यातायात के लिए खोल दिया जाएगा। हालांकि, अभी तक हम मार्च 2022 का लक्ष्य रख रहे थे लेकिन बीते कुछ दिनों में तेजी से काम हुई है, जिससे अब रिकॉर्ड समय में आरओबी तैयार हो जाएगा।

पुराने आरओबी पर भी चल रहा काम 
सराय काले खां से डासना के बीच 14 लेन का एक्सप्रेसवे तैयार किया जा रहा है। आरओबी को छोड़कर बाकी हिस्से का काम पूरा हो चुका है। चिपियाना में छह और चार लेन के दो नए आरओबी बनाए जा रहा है। इनमें से चिपियाना गांव की तरफ छह लेन का आरओबी तैयार हो चुका है। जबकि, कविनगर इंडिस्ट्रयल एरिया की तरफ चार लेन के आरओबी पर काम चल रहा है। इसकी बीच दोनों नए आरओबी के बीच में स्थिति पुरानी सड़क के दो आरओबी पर भी काम होना है। इनमें से एक तरफ से आरओबी की दो लेने पर काम शुरू कर दिया गया है। जबकि, दूसरे तरफ की दो लेन पर जल्द ही काम शुरू होगा।

अभी तक चिपियाना में लगता है जाम 
आरओबी की सभी लेन तैयार न होने की वजह से सुबह और शाम के वक्त लालकुआं से लेकर विजय नगर चौराहे तक जाम की स्थिति बनी रहती है। खासकर दिल्ली से मेरठ की तरफ जाने वाले वाहन शाम के वक्त आधे से पौन घंटे जाम में फंसते हैं। क्योंकि दिल्ली की तरफ से आने वाले ट्रैफिक को डायवर्ट करके पुराने आरओबी से निकाला जाता है। इसी तरह से सुबह की वक्त मेरठ की तरफ से जाने वाले वाहन लालकुआं पर जाम में फंसते हैं। क्योंकि उन्हें एक्सप्रेसवे की बीच की लेन से डायवर्ट करके चिपियाना आरओबी की नई लेन पर भेजा जाता है। इसी डायवर्जन से लोगों को जाम झेलने पड़ता है।
 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here