मुजफ्फरपुर में डीआरआई की बड़ी कार्रवाई, 200 किलो चांदी जब्त

0
94

मुजफ्फरपुर
राजस्व आसूचना निदेशालय (डीआरआई) की मुजफ्फरपुर टीम ने मनियारी थाना के काजी इंडा टोल प्लाजा के पास से कार सवार सर्राफ व उसके चालक को दो सौ किलो से अधिक चांदी के गहनों के साथ दबोचा है। गहने विदेश से तस्करी कर लाए गए हैं। इसकी कीमत सवा करोड़ रुपये आंकी गई है। टीम ने सोमवार की देर रात कार्रवाई की। माड़ीपुर स्थित डीआरआई कार्यालय में सर्राफ व चालक से पूछताछ के आधार पर टीम ने मंगलवार को गरीबनाथ मंदिर रोड स्थित दो आभूषण दुकानों में पांच घंटे तक छापेमारी की। मौके से दो अन्य सर्राफ को भी हिरासत में लिया। दुकानों को बंद करा दिया। इस कार्रवाई की डीआरआई के एक अधिकारी ने पुष्टि की है। हालांकि, जांच पूरी होने पर जानकारी देने की बात कही है। उन्होंने कहा है कि फिलहाल जांच जारी है। डीआरआई सूत्रों की मानें तो गुप्त सूचना के आधार पर टीम ने रणनीति बनाकर टोल प्लाजा पर कार को रोका। चालक व सर्राफ से पूछताछ की। उनलोगों ने बताया कि वे देवघर से लौट रहे हैं। गाड़ी की डिक्की की जांच करने पर दो बैग में चांदी के गहने मिले। टीम ने दोनों का मोबाइल जब्त कर लिया। इस संबंध में पूछताछ करने पर दोनों ने टीम को ठोस जानकारी नहीं दी। भारी मात्रा में चांदी के गहने ले जाने का उद्देश्य भी नहीं बताया। इसके बाद दोनों को हिरासत में लेकर टीम माड़ीपुर स्थित कार्यालय पहुंची, जहां सुबह तक पूछताछ की। इसके बाद दुकानों में छापेमारी करने सुबह दस बजे टीम पहुंची।

ग्राहक बनकर पहुंचे आभूषण दुकान
सूत्रों की मानें तो काजी इंडा से पकड़े गए सर्राफ से पूछताछ के बाद डीआरआई की टीम गरीबनाथ मंदिर रोड स्थित दो दुकान पहुंची। दुकानदारों को गहने दिखाने के लिए कहा। टीम ने भारी मात्रा में खरीदारी को लेकर बातचीत की। कीमत को लेकर तोलमोल करने लगी। जैसे ही दुकानदारों ने तोलमोल करने का आश्वासन दिया, टीम ने अपना परिचय देकर दुकान के गेट को बंद कराया। फिर छापेमारी शुरू की। स्टॉक रजिस्टर से लेकर सेल रजिस्टर तक की जांच की। इसमें कई गड़बड़ी मिली। दोपहर करीब चार बजे डीआरआई की टीम दोनों दुकानदार को हिरासत में लेकर कार्यालय लौटी, जहां उनके नेटवर्क के संबंध में पूछताछ की जा रही है।

मुम्बई से होते हुए कोलकाता मंगाई खेप
टीम ने तीनों सर्राफ व चालक के मोबाइल को जब्त कर लिया है। उनकी कॉल डिटेल लेकर नेटवर्क में शामिल अन्य धंधेबाजों को भी चिह्नित करने में जुटी है। प्रारंभित छानबीन के बाद बताया गया कि काजी इंडा से पकड़े गये गहने को तस्करों ने मुम्बई से वाया कोलकाता मंगाया था। इसके बाद वे इसे लेकर मुजफ्फरपुर के लिए निकले थे। खेप मुजफ्फरपुर के अलावा मोतिहारी, बेतिया व सीतामढ़ी के कारोबारियों तक पहुंचानी थी।
 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here