प्रदेश में 6 जिलों में भारी बारिश का अलर्ट, बिजली गिरने की भी चेतावनी

0
253

भोपाल
 प्रदेश में एक बार फिर मौसम (MP Weather Update)में बदलाव देखने को मिल रहा है।बंगाल की खाड़ी से लगातार नमी मिलने के चलते कहीं तेज धूप तो कही झमाझम बारिश हो रही है। आज बुधवार को जबलपुर, होशंगाबाद और इंदौर संभागों के जिलों में कहीं-कहीं बारिश और भोपाल सहित अन्य जिलों में छिटपुट बौछारों की संभावना है। मप्र  मौसम विभाग (MP Weather Department) ने आज बुधवार 22 सितंबर को 6 जिलों में भारी बारिश (Heavy rain) के चलते अलर्ट और 7 संभागों में बिजली गिरने और चमकने की चेतावनी भी जारी की गई है।मंगलवार को राजधानी भोपाल समेत अन्य जिलों में हल्की से मध्यम बारिश हुई। वहीं कहीं—कहीं जिलों में लागातार बारिश से जनजीवन प्रभावित हुआ है। आज भी आसमान में बादल छाए हुए हैं।

मौसम विभाग (MP Weather alert) ने आज बुधवार 22 सितंबर 2021 को प्रदेश के 6 जिलों शहडोल, सीधी, सिंगरौली, अलीराजपुर, झाबुआ, धार जिलों में भारी बारिश (Heavy Rain) की चेतावनी जारी की गई है। वही सागर, रीवा, होशंगाबाद, ग्वालियर, चंबल, इंदौर, शहडोल संभागों में बिजली गिरने और चमकने की संभावना को देखते हुए येलो अलर्ट जारी किया गया है। वही उज्जैन, इंदौर, रीवा एवं सागर संभागों के जिलों में अनके स्थानों पर बारिश के आसार है।वही 23 सितंबर से भोपाल-इंदौर के साथ ग्वालियर और उज्जैन संभागों में हल्की बारिश रहेगी।

मौसम विभाग (MP Weather Forecast) की माने तो वर्तमान में एक साथ 3 सिस्टम एक्टिव है।बंगाल की खाड़ी में कम दबाव का क्षेत्र वर्तमान में झारखंड के आसपास सक्रिय, राजस्थान पर एक चक्रवात और मानसून ट्रफ भी मध्यप्रदेश से होकर गुजर रहा है।इधर, 25 सितंबर काे भी बंगाल की खाड़ी में एक नया कम दबाव का क्षेत्र बनने जा रहा है, जिसके प्रभाव से सितंबर माह के अंत तक मूसलाधार का सिलसिला जारी रहेगा ।मौसम वैज्ञानिक ने बताया कि मध्यप्रदेश में मानसून की सक्रियता बनी हुई है। आज कई जिलों में भारी बारिश के आसार है। वहीं मौसम विभाग ने प्रदेश के अधिकांश जिलों के लिए येलो अलर्ट जारी किया है।
अब भी सामान्य से 2 प्रतिशत कम बारिश

मौसम विभाग के अनुसार, प्रदेश में अभी तक 36 इंच बारिश हुई है, जबकी 37 इंच बारिश होना चाहिए थी।यह सामान्य से करीब 2% कम है।पूर्वी मध्यप्रदेश के बालाघाट, छतरपुर, दमोह, जबलपुर, कटनी, मंडला, नरसिंहपुर, पन्ना, सागर, सिवनी और सतना समेत लगभग सभी जिलों में 15 से लेकर 60% तक कम पानी गिरा है, जो कि यह सामान्य से 16% कम है। हालांकि अकेले सिंगरौली में सामान्य से 50 % बारिश हुई है।पश्चिम मध्यप्रदेश यानी आगर-मालवा, अशोकनगर, भिंड, गुना, नीमच, राजगढ़, श्योपुर और शिवपुरी में 40 से लेकर 101% तक ज्यादा पानी गिर चुका है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here