एमबीए की काउंसलिंग में सीमेट से प्रवेश लेने मात्र 2752 विद्यार्थियों ने कराया पंजीयन

0
7

भोपाल

प्रदेश के 225 एमबीए कॉलेजों में प्रवेश कराने तकनीकी शिक्षा विभाग आॅनलाइन काउंसलिंग करा रहा है। प्रथम राउंड में एआईसीटीई के सीमेट द्वारा प्रवेश कराए जाते हैं। इसमें विभाग को पांच फीसदी प्रवेश कराना भी मुश्किल दिखाई दे रहा है। इसके चलते भोपाल के 73 कॉलेज समेत समूचे प्रदेश में 166 कॉलेजों में एक भी प्रवेश नहीं होगा, उन्हें दूसरे राउंड में ही प्रवेश मिल सकते हैं। एमबीए की प्रथम राउंड की काउंसलिंग में सीमेट से प्रवेश लेने दो हजार 752 विद्यार्थियों ने अपना पंजीयन कराया था। इसमें से दो हजार 700 विद्यार्थियों से सत्यापन कराया और च्वॉइस फिलिंग दो हजार 530 विद्यार्थी की। इसमें से विभाग ढाई हजार विद्यार्थियों को अलॉटमेंट कर सका है। जबकि विभाग को प्रदेश के 225 कॉलेजों की करीब 43 हजार सीटों पर प्रवेश कराना है। प्रथम राउंड की काउंसलिंग में प्रवेश लेने 166 कॉलेजों में एक भी विद्यार्थी ने च्वॉइस फिलिंग नहीं की। इसमें भोपाल 73 कॉलेज शामिल हैं। क्योंकि विद्यार्थियों ने सीमेट में शामिल होना जरूरी समझा। विद्यार्थियों को क्वालीफाई राउंड में यूजी की मेरिट के आधार पर आसानी से प्रवेश मिल जाता है। इसके चलते वे सीमटे देना जरूरी नहीं समझते हैं। वहीं विभागीय अधिकारियों का कहना है प्रदेश के एमबीए कॉलेजों में प्रवेश देने के लिए सीमेट की जरूरत नहीं होती है। क्वालीफाई राउंड में प्रवेश का ग्राफ ज्यादा तेजी से ऊपर जाएगा।

28 तक मिलेगा प्रवेश
प्रथम राउंड में विद्यार्थी 28 सितंबर तक प्रवेश ले सकेंगे। हालांकि कल से एमबीए के क्वालीफाई राउंड के पंजीयन शुरू हो जाएंगे, जो एक अक्टूबर तक होंगे। ढाई हजार विद्यार्थियों में से अभी तक करीब 300 विद्यार्थियों ने एमबए कालेजों में रिपोर्टिंग की है।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here