कल्याणी जुम्मी को भेजा जायेगा वृद्धाश्रम, बेटों के खिलाफ भरण-पोषण अधिनियम के तहत होगी कार्रवाही

0
211

मुरैना
प्रदेश सरकार की महत्वाकां
क्षी योजना जनसुनवाई से लोग प्रभावित होकर लाभ लेने के लिये लायलत हो रहें है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने गत दिवस समस्त जिलों के जिलाधिकारियों को स्पष्ट निर्देश दिये है कि जनसुनवाई में प्राप्त होने वाले आवेदनों को अधिकारी गंभीरता से सुनें और उनका पारदर्शी तरीके से निराकरण सुनिश्चित करें। इसके तहत कलेक्टर बी.कार्तिकेयन के मार्गदर्शन में जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी रोशन कुमार सिंह ने मंगलवार को जनसुनवाई की। जिसमें 110 आवेदन पत्रों को सुना, जिसमें से 13 आवेदन ऐसे पाये गये, जिनका निराकरण 24 घंटे के अंदर करने के निर्देश अधिकारियों को दिये।

जनसुनवाई के दौरान कल्याणी जुम्मी पत्नि नवाव खांन ग्राम जींगनी निवासी ने आवेदन प्रस्तुत किया कि मुझे मेरे पुत्रों एवं बहुओं द्वारा आये दिन मारपीट कर प्रताड़ित किया जा रहा है। मैं घर छोड़कर बाहर रहने को मजबूर हूं। जिला सीईओ ने श्रीमती कल्याणी जुम्मी की बात को गंभीरता से लिया और तत्काल एसडीएम को उनके बच्चों के खिलाफ भरण-पोषण अधिनियम के तहत कार्रवाही करने एवं श्रीमती कल्याणी जुम्मी को वृद्धाश्रम में रखने के निर्देश दिये।     

इसके अलावा करूआ निवासी बासुदेव शर्मा ने नामान्तरण को ऑनलाइन कराने, उम्मेदगढ़ बांसी के चन्द्रवती गोस्वामी ने जननी सुरक्षा योजना का लाभ दिलाये जाने, डोंगरपुर लोधा निवासी जयनारायण शर्मा ने बंधक भूमि को मुक्त कराने, अगरौता निवासी वृदावन कुशवाह ने अपनी बुआ के मृत्यु प्रमाण पत्र लेने, ग्राम परसा का पुरा निवासी रामनिवास ने सामूहिक भैंसरोली सोसायटी से राशन वितरण कराने, सबलगढ़ निवासी डॉ. केपी गुप्ता ने वन्य प्राणी के पीएम का मानदेय भुगतान करने, गोपालपुरा मुरैना निवासी कमला ने पारिवारिक बंटाकन और हरिगवां निवासी उत्तम सिंह ने किसान सम्मान निधि का लाभ दिलाये जाने की जनसुनवाई में मांग की। जिला सीईओ ने इन सभी आवेदनों को आवेदनकर्ताओं को आश्वस्त किया कि आवेदन में कई मांग जायज है, इनका निराकरण 24 घंटे के अंदर कर दिया जाये। जिसकी जानकारी अगले मंगलवार को संबंधित अधिकारी निराकरण कर कलेक्टर को प्रस्तुत करें। तभी हितग्राहियों को लाभ प्राप्त होगा।  

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here