उत्तर कोरिया ने फिर किया बैलेस्टिक मिसाइल का परीक्षण 

0
143

सियोल 
उत्तर कोरिया ताबड़तोड़ मिसाइल परीक्षण कर रहा है। उत्तर कोरिया ने मंगलवार सुबह जापान सागर में कम दूरी तक प्रहार करने में सक्षम एक और बैलिस्टिक मिसाइल का परीक्षण किया। दक्षिण कोरिया के ज्वाइंट चीफ ऑफ स्टाफ (जेसीएस) ने बुधवार को यह जानकारी दी। जेसीएस के मुताबिक यह मिसाइल जगंग प्रांत के उत्तर में स्थित मुप्योंग-री से पूर्व की ओर सुबह लगभग 6.40 बजे दागी गई। परीक्षण के बारे में अतिरिक्त जानकारी जुटाने के लिए दक्षिण कोरियाई और अमेरिकी खुफिया अधिकारी इसका विश्लेषण कर रहे हैं।

जापान सरकार ने बताया कि मंगलवार सुबह एक बैलिस्टिक मिसाइल जैसा प्रक्षेप्य उसके विशेष आर्थिक क्षेत्र के बाहर समुद्र में गिरा। इसके बाद टोक्यो ने निगरानी बढ़ा दी है। यह परीक्षण उत्तर कोरियाई नेता किम जोंग-उन की बहन किम यो-जोंग के उस बयान के तीन दिन बाद किया गया है, जिसमें उन्होंने कहा था कि प्योंगयांग दक्षिण कोरिया के सुझाव के अनुरूप कोरियाई युद्ध को औपचारिक रूप से समाप्त करने की घोषणा कर सकता है। वह एक शिखर सम्मेलन की संभावना पर भी चर्चा कर सकता है, बशर्ते दक्षिण कोरिया उत्तर कोरिया के खिलाफ अपने दोहरे मापदंड और शत्रुतापूर्ण रवैये को छोड़ दे।

इस बीच, सियोल में शीर्ष सुरक्षा अधिकारियों ने राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद की आपातकालीन सुरक्षा बैठक बुलाकर परीक्षण पर खेद जताया। साथ ही कहा कि दक्षिण कोरियाई राष्ट्रपति मून जेइ-इन ने मिसाइल परीक्षण और उत्तर कोरिया के हालिया बयानों के व्यापक विश्लेषण का आदेश दिया है। मालूम हो कि उत्तर कोरिया ने सितंबर की शुरुआत में भी बैलिस्टिक और क्रूज मिसाइलों का परीक्षण किया था। इसका मकसद दक्षिण कोरिया और जापान में निर्धारित लक्ष्यों पर हमला करने की क्षमता प्रदर्शित करना था। दोनों ही देश अमेरिका के सहयोगी हैं। वहां 80000 अमेरिकी सैनिक तैनात हैं।
 
अमेरिका के हिंद-प्रशांत कमान ने कहा कि मिसाइल परीक्षण अमेरिकी कर्मियों, उसके सहयोगियों या क्षेत्र के लिए तत्काल खतरा पैदा नहीं करता है, लेकिन इससे उत्तर कोरिया के अवैध हथियार कार्यक्रम का अस्थिरकारी प्रभाव उजागर होता है। दक्षिण कोरिया और जापान की रक्षा के लिए अमेरिकी प्रतिबद्धता पहले की तरह कायम रहेगी।

सियोल के साथ सैन्य अभ्यास बंद करे वाशिंगटन
उत्तर कोरिया ने सोमवार रात अमेरिका पर उसके खिलाफ शत्रुतापूर्ण नीति जारी रखने का आरोप लगाया। संयुक्त राष्ट्र महासभा की वार्षिक उच्च स्तरीय बैठक के अंतिम दिन उत्तर कोरियाई राजदूत किम सोंग ने अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन से दक्षिण कोरिया के साथ जारी संयुक्त सैन्य अभ्यास को स्थाई रूप से समाप्त करने की मांग भी की।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here