पटना में एक भी नहीं कोरोना मरीज, कोविड अस्पतालों के 96% आइसीयू के बेड हैं खाली

0
123

पटना
राज्य में बुधवार को 11 नये कोरोना संक्रमित पाये गये हैं. इनमें दरभंगा और गया जिले में दो-दो, बेगूसराय में एक, भोजपुर में एक, पूर्वी चंपारण जिले में एक, खगड़िया जिले में एक, मुजफ्फरपुर जिले में एक और सहरसा जिले में एक संक्रमित शामिल हैं. पटना में एक भी मरीज नहीं मिला.

बिहार में दूसरे राज्य का एक व्यक्ति का सैंपल भी पॉजिटिव पाया गया है. इधर राज्य में एक लाख 56 हजार 787 सैंपलों की जांच की गयी. राज्य का कोरोना रिकवरी रेट 98.65 प्रतिशत है. कोरोना टीकाकरण अभियान के तहत बुधवार को राज्य में दो लाख 17 हजार से अधिक लोगों को टीका दिया गया. इसके साथ ही राज्य में कुल पांच करोड़ 17 लाख 88 हजार से अधिक डोज टीका दिया जा चुका है.

राज्य में सर्वाधिक टीकाकरण करनेवाले जिलों में पूर्वी चंपारण में 20294, पटना में 18379, दरभंगा में 14011, सारण में 13622 और नालंदा जिले में 10018 लोगों को टीका दिया गया. पटना जिले में बुधवार को 22 हजार 407 को वैक्सीन दी गयी. इसमें पहला डोज लेने वालों की संख्या 6,215 है और दूसरा डोज लेने वालों की संख्या 16,192 है.

राज्य में कोरोना की दूसरी लहर समाप्ति की ओर हैं. राज्य के डेडिकेटेड कोविड अस्पतालों के बेड इसके प्रमाण हैं कि राज्य में कोरोना संक्रमितों की संख्या सिमट गयी है. राज्य सरकार द्वारा स्थापित कोविड अस्पतालों के 97% सामान्य बेड खाली बड़े हैं, जबकि गंभीर मरीजों के लिए 96% आइसीयू बेड खाली हो गये हैं.

फिलहाल राज्य के कोविड अस्पतालों के अधिकतर बेड खाली हैं. राज्य स्वास्थ्य समिति की रिपोर्ट के अनुसार, राज्य के कोविड अस्पताल के 23077 सामान्य बेडों में से 22311 बेड खाली हैं. सिर्फ 766 बेड पर मरीज भर्ती हैं.

कोविड मरीजों के 1628 आइसीयू बेड में से 69 बेड पर ही मरीज भर्ती है, जबकि 1559 बेड खाली हैं. कोरोना की दूसरी लहर आने के बाद 12 डेडीकेटेड कोविड अस्पतालों की स्थापना की गयी है, जिसमें कुल 2266 सामान्य बेड जबकि 502 आइसीयू बेड की स्थापना की गयी है. राज्य में 94 डेडिकेटेड कोविड हेल्थ सेंटर हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here