पंजाब: सिरफिरे युवक की करतूत, थाने से संतरी की राइफल लेकर भागा, फेसबुक पर लाइव होकर बताया कारण

0
13

गुरदासपुर
यहां एक सिरफिरे युवक जसविंदर सिंह ने झगड़े की शिकायत पर कार्रवाई न होने पर थाना धारीवाल से संतरी की सेल्फ लोडिंग राइफल (एसएलआर) लेकर भाग गया। फिर, फेसबुक पर लाइव होकर उसने थाने से राइफल ले जाने के पीछे के कारण लोगों को बताने शुरू कर दिए। पुलिस ने उसकी लोकेशन ट्रेस करते हुए थाना धारीवाल के गांव धंदल के खेतों में ट्यूबवेल पर बने कमरे में घेराबंदी करके उसे काबू कर लिया।

मीडिया और वकील के सामने किया आत्मसमर्पण
हालांकि पुलिस की घेराबंदी के बाद भी युवक ने आत्मसमर्पण अपनी शर्तों पर किया। उसकी शर्त थी कि वह आत्मसमर्पण मीडिया और वकील के सामने करेगा। पुलिस ने आरोपित के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है जबकि संबंधित थाना प्रभारी व संतरी के खिलाफ भी जांच शुरू कर दी गई है। गांव गुरदास नंगल निवासी जसविंदर सिंह का अपने ही गांव के कुछ लोगों से गुरुद्वारे को लेकर विवाद चल रहा था। उसका उनसे झगड़ा भी हुआ था, जिसकी शिकायत उसने करीब डेढ़ महीने पहले थाने में दर्ज करवाई थी।वह थाने के चक्कर लगा-लगाकर हताश हो चुका था।

थाने के बाहर चालू हालत में छोड़ी थी कार
सोमवार की सुबह करीब 8 बजे वह थाना धारीवाल पहुंचा और एसएचओ से उसकी शिकायत वापस करने की बात की। जब एसएचओ अपनी फाइलों को देखने लगा तो वह पास में पड़ी संतरी की राइफल लेकर भाग निकला। आरोपित ने साजिश के तहत पहले ही बाहर अपनी गाड़ी को मोड़ कर चालू करके रखा था ताकि वह राइफल लेकर तुरंत वहां से भाग सके।

इसके बाद आरोपित ने फेसबुक पर लाइव होकर थाने से राइफल ले जाने और पुलिस द्वारा कार्रवाई न किए जाने से नाराज होकर इस काम को अंजाम देने संबंधी वीडियो डाला। उसने यह वीडियो कुछ मीडिया कर्मियों को भी भेजा। इसके बाद पुलिस ने लोकेशन को ट्रेस करते हुए उसे थाना काहनूवान के गांव धंदल में उसके रिश्तेदार के ट्यूबवेल पर बने कमरों में घेर लिया। जसविंदर ने पुलिस के सामने अपनी शर्त रखनी शुरू कर दी। उसने एक और वीडियो जारी करते हुए कहा कि अगर पुलिस उसकी शिकायत के मुताबिक आरोपितों के खिलाफ एफआइआर दर्ज करती है तो वह खुद आत्मसमर्पण कर देगा। अगर उसके साथ धक्केशाही की कोशिश की गई तो वह मुकाबला करेगा।

अंत में उसने शर्त रखी कि आत्मसमर्पण केवल मीडिया कर्मियों और वकील के सामने ही करेगा। उसने यह भी शर्त रखी कि उसे थाने के बजाय सीधा जेल में ले जाया जाए। पुलिस को आत्मसमर्पण करने से पहले युवक एक बार फिर से फेसबुक पर लाइव हुआ और उसने कहा कि वह खुद आत्मसमर्पण कर रहा है। अब अगर पुलिस द्वारा उसे कोई नुकसान पहुंचाया जाता है तो उसकी जिम्मेदारी पुलिस की होगी। अंत में उसने आत्मसमर्पण करते हुए राइफल डीएसपी सुखपाल सिंह को सौंप दी। पुलिस उसे पूछताछ के लिए ले गई।

पुलिस कर्मचारियों पर भी होगी कार्रवाई
डीएसपी सुखपाल सिंह ने बताया कि युवक के खिलाफ विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज कर लिया गया है। उन्होंने बताया कि इसके अलावा आरोपित द्वारा पुलिस के रवैये को लेकर जो पहलू बताए गए हैं, उनके आधार पर ही छानबीन की जाएगी। अगर कोई दोषी पाया गया तो उसके खिलाफ भी कार्रवाई की जाएगी। उधर, मामले संबंधी एसएसपी गुरदासपुर दीपक हिलोरी का कहना है कि आरोपित के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया गया है। इसके अलावा मामले की पूरी जांच की जा रही है। इसके बाद संबंधित पुलिस कर्मचारियों के खिलाफ भी कार्रवाई की जाएगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here