मॉ कौशिल्या स्व-सहायता समूह के बकरियों का कुनबा एक वर्ष के भीतर बढा़

0
62

रायपुर
रायपुर के समीप माता कौशल्या मंदिर की पावनधरा चंदखुरी के गौठान में मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने करीब एक वर्ष पूर्व मॉ कौशिल्या स्व-सहायता समूह को रूरल बैकयार्ड गोट डेव्हलपमेंट स्कीम के तहत 10 बकरी तथा 1 बकरा प्रदाय किया था। महिलाओं के लिए भले ही बकरी पालन का कार्य नया हो, लेकिन उन्होंने अपने इस कार्य को पूरी लगन को मेहनत से किया और देखते ही देखते यहां बकरियों का कुनबा बढ़ गया है। इन बकरियों ने सात बच्चों को जन्म दिया है और अब यहां बकरीवंशीय पशुओं की संख्या बढ़कर 18 हो गई है।

उल्लेखनीय है कि नेशनल लाईव स्टॉक मिशन के घटक रूरल बैकयार्ड गोट डेव्हलपमेंट योजना के माध्यम से बकरी पालन के लिए अनुदान पर बकरी और बकरा प्रदाय किया जाता है। महिला स्वसहायता समूह की सदस्य श्रीमती वीणा धीवर को योजना के तहत लाभंावित किया गया है। इसके तहत एक इकाई की लागत 66 हजार रूपये आती है। इसमें से 59 हजार 400 रुपये की राशि अनुदान की होती है और हितग्राही को मात्र 6 हजार 600 रूपये की राशि अंशदान के रूप में देनी पड़ती है। श्रीमती वीणा धीवर योजना के प्रति काफी आशान्वित है उन्हें अनुमान है कि उन्हें पहले ही वर्ष 40 हजार रूपये की आय होगी। भविष्य में बकरियों की संख्या बढ़ने पर उनकी आय और इजाफा होगा।

उल्लेखनीय है कि राम वन गमन पर्यटन परिपथ के अंतर्गत छत्तीसगढ़ के सुकमा और कोरिया सेे प्रारंभ बाइक रैली का समापन 17 दिसंबर 2020 को चंदखुरी में हुआ था। मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने इस अवसर पर यहां के गौठान का अवलोकन किया था और इस दौरान उन्होंने इस योजना के अंतर्गत श्रीमती वीणा धीवर को लाभांवित किया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here