भारतीय गौरवशाली सभ्यता के संरक्षण में जनजातीय समाज की अहम भूमिका – केन्द्रीय मंत्री कुलस्ते

0
99

भोपाल

केंद्रीय इस्पात एवं ग्रामीण विकास राज्य मंत्री फग्गन सिंह कुलस्ते ने कहा कि भारतीय गौरवशाली सभ्यता के संरक्षण में जनजातीय समाज की महत्वपूर्ण भूमिका है। जनजातीय समाज के गौरवशाली इतिहास और सभ्यता के साथ उनके अधिकारों के संरक्षण के लिए केंद्र और प्रदेश सरकार कृत संकल्पित है। विस्थापन पर अब प्रत्येक जनजाति को 10-10 लाख के स्थान पर 20 लाख की राशि देने की व्यवस्था की जाएगी। साथ ही उन्हें निजी कंपनियों में नौकरी देने के प्रयास भी किए जाएंगे। जनजातीय समाज के सांस्कृतिक कार्यक्रमों के लिए 25 लाख की लागत से होशंगाबाद में सांस्कृतिक भवन बनाया जाएगा।

मंत्री कुलस्ते आज होशंगाबाद के ब्लॉक बाबई में आयोजित वीरांगना रानी दुर्गावती की 497 वी जयंती समारोह में जनसमूह को संबोधित कर रहे थे। मंत्री कुलस्ते ने रानी दुर्गावती के चित्र पर माल्यार्पण कर कार्यक्रम का शुभारंभ किया। मंत्री कुलस्ते ने कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय अटल बिहारी वाजपेयी द्वारा शुरू वीर आदिवासी शहीदों के स्मारकों के भव्य बनाने और उनकी वीरगाथा से जन-जन को अवगत कराने का कार्य प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा निरंतर जारी है। वीर अमर शहीदों के बलिदान की कहानियों को संजोया जा रहा है।

मंत्री कुलस्ते ने कहा कि आदिवासी समाज अपने अधिकारों के प्रति सजग और सतर्क रहें। वीरांगना रानी दुर्गावती की अमर कथाओं से प्रेरणा लेकर देश और समाज के विकास के लिए एकजुट होकर आगे बढ़े। मंत्री कुलस्ते ने कहा कि तवा नदी के कटाव के कारण प्रभावित होने वाले किसानों के मद्देनजर पिचिंग बनाकर नदी के कटाव को रोका जाएगा। आदिवासियों के हितों के दृष्टिगत पेसा कानून को शीघ्र लागू करेंगे। आदिवासी क्षेत्रों में नल से जल पहुँचाने, हर घर में बिजली आपूर्ति के साथ ही सभी पात्रजनों को प्रधानमंत्री आवास योजना का लाभ भी दिया जाएगा।

जनजातीय समाज सतपुड़ा का श्रंगार

सांसद राव उदय प्रताप सिंह ने कहा कि केंद्र एवं प्रदेश सरकार की जन-कल्याणकारी योजनाओं का लाभ लेकर जनजातीय समाज निरंतर आगे बढ़ रहा है। उनकी जमीन पर मालिकाना हक हो या विस्थापन, उनके हितों का विशेष ध्यान रखा गया है। केंद्र एवं प्रदेश सरकार जनजातीय वर्ग के लिए सड़क, बिजली, आवास, शिक्षा आदि मूलभूत सुविधाओं की प्रदायगी के लिए कटिबद्ध है। उन्होंने कहा कि आदिवासी समाज सतपुड़ा का श्रृंगार और देश का गौरव है।

विधायक विजय पाल सिंह ने कहा कि जनजातीय वर्ग के कल्याण और उनके अधिकारों के संरक्षण के लिए कोई कसर नहीं छोड़ी जाएगी। विस्थापन में भी ज्यादा से ज्यादा उन्हें पुनर्वास पैकेज मिले इसके प्रयास किए जाएंगे।

जनजातीय कलाकारों द्वारा दी गई शानदार प्रस्तुतियाँ

कार्यक्रम में जनजातीय समाज के कलाकारों द्वारा लोक संस्कृति पर आधारित शानदार प्रस्तुतियाँ दी गई। विधायक विजय पाल सिंह ने शानदार प्रस्तुतियों पर 4 नृत्य समूहों को विधायक निधि से 10-10 हजार रुपए की पुरस्कार राशि दी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here