केन्द्र व राज्य सरकार की मंशा है कि किसान की आय दोगुनी हो – अम्बाह विधायक

0
103

मुरैना
केन्द्र और राज्य सरकार किसानों को हर हाल में खुश देखना चाहती है, इसके लिये खेती में कृषकों के लिये जो भी प्रयास किये जा रहे है, वे प्रयास हमारे अपने केन्द्रीय कृषि मंत्रीनरेन्द्र सिंह तोमर के अथक प्रयासों से प्रारंभ हो रहें है। यह बात अम्बाह विधायक कमलेश जाटव ने गुरूवार को टाउनहॉल में आयोजित जन कल्याण और सुराज के कार्यक्रम को संबोधित करते हुये किसानों से कही। इस अवसर पर वरिष्ठ समाजसेवी डॉ. योगेशपाल गुप्ता, पूर्व कृषि मंत्रीगिर्राज डंडोतिया, उपसंचालक कृषिपीसी पटेल सहित बड़ी संख्या में जिले के कृषक मौजूद थे।     
अम्बाह विधायक कमलेश जाटव ने कहा कि कृषि मंत्री मुरैना के होने के नाते कृषकों के प्रति उनका विशेष लगाव है। इस कारण उन्होंने प्रधानमंत्री के जन्म पखवाड़ा में अनेकों कार्यक्रम आयोजित करने के प्रोग्राम जारी किये है। जिसके तहत जनकल्याण और सुराज कार्यक्रम के तहत कृषकों के लिये उन्नत बीज से उन्नत खेती खुशहाल किसान देश की प्रगति। कार्यक्रम में प्रदेश में मनाया जा रहा है। जिसमें बीज मिनी किट, बीज ग्रामों का शुभारंभ, कृषक उत्पादक संगठनों का गठन और कृषि अद्योसरंचना निधि के अन्तर्गत राशि का वितरण जैसे कार्यक्रम प्रदेश के साथ-साथ मुरैना जिले में किय जा रहें है। आज मुरैना जिले के लगभग 2 हजार किसानों को सरसों के बीज का वितरण किया जा रहा है।
    
वरिष्ठ समाजसेवी डॉ. योगेशपाल गुप्ता ने कहा कि प्रधानमंत्रीनरेन्द्र मोदी के 17 सितम्बर से 7 अक्टूबर तक 20 दिन तक का जन्मदिवस एक पखवाड़े के रूप में मनाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि 20 दिन यानी एक पखवाड़े का मतलब प्रधानमंत्रीनरेन्द्र मोदी को 20 वर्ष लगातार गुजरात में मुख्यमंत्री और देश के प्रधानमंत्री के पद पर हो चुके है। इसलिये प्रदेश सरकार 20 दिन तक अनेकों कार्यक्रम कर रहीं है। इसके तहत केन्द्रीय मंत्रीनरेन्द्र सिंह तोमर के मार्गदर्शन में कृषि के क्षेत्र में किसानों के लिये जनकल्याण और सुराज के कार्यक्रम के तहत उन्नत बीज का वितरण कृषकों को किया जा रहा है।
    
पूर्व कृषि मंत्रीगिर्राज डंडोतिया ने कहा कि हमारे देश और प्रदेश के किसानों के लिये एक से बढ़कर एक नई योजनायें लायी जा रहीं है। जिससे किसान अपनी आमदनी दोगुनी कर सके और अपनी आर्थिक स्थिति को सुधार सके। कृषि मंत्री मुरैना से ब्लॉंग करते है, इसलिये कृषि के क्षेत्र में जो भी योजनाओं का सृजन होता है, वे मुरैना से ही प्रारंभ होती है।
    
कार्यक्रम के अंत में उपस्थित कृषकों को सरसों बीज वितरित किये गये। इसके पूर्व कृषि वैज्ञानिकों द्वारा किसानों को मिट्टी के नमूने, उवर्रक, बीज उपचारित के बारे में विस्तार से बताया। कार्यक्रम के अंत में भोपाल से मुख्यमंत्रीशिवराज सिंह चौहान द्वारा किसानों को संबोधित किया। जिसे एलईडी के माध्यम से सभी कृषकों ने सुना और देखा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here