संयुक्त अरब अमीरात के राष्ट्रपति खलीफा बिन जायद 73 वर्ष की उम्र में निधन

0
6

दुबई
 संयुक्त अरब अमीरात के राष्ट्रपति शेख खलीफा बिन जायद अल नाहयान का 73 वर्ष की उम्र में निधन हो गया है। शेख खलीफा बिन जायद अल नाहयान 3 नवंबर, 2004 से संयुक्त अरब अमीरात के राष्ट्रपति और अबू धाबी का शासक बने थे। पिछले कुछ महीने से खराब तबीयत के कारण उनका इलाज चल रहा था। राष्ट्रपति कार्यालय ने पुष्टि करते हुए कहा कि राष्ट्रपति और अबू धाबी के शासक का शुक्रवार 13 मई को निधन हो गया। उनके निधन पर यूएई, अरब और इस्लामिक राष्ट्र समेत दुनिया के कई देशों ने संवेदना व्यक्त की है।

830 बिलियन डॉलर की संपत्ति के थे मालिक
फोर्ब्स के अनुसार, शेख खलीफा बिन जायद अल नाहयान की कुल संपत्ति 830 बिलियन डॉलर है। यह राशि पाकिस्तान के कुल बजट से 18 गुना ज्यादा है। पाकिस्तान का सालाना बजट लगभग 45 बिलियन डॉलर है। शेख खलीफा बिन जायद अल नाहयान की संपत्ति में 97.8 बिलियन बैरल कच्चे तेल का निजी भंडार भी शामिल है।

पिता के निधन के बाद संभाली थी यूएई की कमान
शेख खलीफा बिन जायद अल नाहयान को उनके पिता शेख जायद बिन सुल्तान अल नाहयान के निधन के बाद यूएई की कमान सौंपी गई थी। शेख जायद बिन सुल्तान अल नाहयान 1971 में यूएई के पहले राष्ट्रपति बनें थे। उनका निधन 2 नवंबर, 2004 को हुआ था। 1948 में जन्मे शेख खलीफा यूएई के दूसरे राष्ट्रपति और अबू धाबी अमीरात के 16वें शासक थे। वह शेख जायद के सबसे बड़े बेटे थे।

यूएई के विकासपुरुष के नाम से मिली प्रसिद्धि
संयुक्त अरब अमीरात के राष्ट्रपति बनने के बाद से शेख खलीफा ने देश और अबू धाबी की सरकार में कई बड़े सुधार करवाए। उनके शासनकाल में संयुक्त अरब अमीरात में विकास की लहर काफी तेज हुई। यहां तक कि उनकी मंजूरी के बाद ही यूएई ने इस्लामी देशों के कट्टर दुश्मन इजरायल के साथ दोस्ती की थी। उन्होंने देश में विदेशी कामगारों के हित में कानून बनाने और देश की विदेश नीति पर सबसे ज्यादा फोकस किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here