प्रशासन ने ओवैसी को जेल में बंद अतीक अहमद से मिलने की नहीं दी इजाजत

0
194

   अहमदाबाद

ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (एआईएमआईएम) चीफ असदुद्दीन ओवैसी को गुजरात दौरे से पहले बड़ा झटका लगा है. ओवैसी साबरमती जेल में बंद अतीक अहमद से मुलाकात करने वाले थे लेकिन जेल प्रशासन ने मुलाकात की अनुमति देने से इनकार कर दिया.

अहमदाबाद साबरमती जेल प्रशासन ने AIMIM के चीफ औवेसी की अतीक अहमद के साथ जेल में मुलाकात करवाने से इनकार कर दिया. प्रशासन का कहना है कि अतीक अहमद सिर्फ परिवार के सदस्यों या फिर अपने आधिकारिक वकील से मुलाकात कर सकते हैं. ऐसे में नियमों के अनुसार ओवैसी की अतीक अहमद के साथ मुलाकत संभव नहीं है.

गुजरात से यूपी में वोट साधने की कोशिश

ओवैसी आज सोमवार को एक दिन के गुजरात दौरे पर जाने वाले थे. बताया जा रहा था कि वे यहां मुस्लिम समाज के नेताओं, सामाजिक संस्थाओं के पदाधिकारियों से मिलेंगे. इस दौरान उनका अहमदाबाद की सेंट्रल जेल में बंद उत्तर प्रदेश के माफिया डॉन अतीक अहमद के साथ मुलाकात का भी कार्यक्रम था. लेकिन अब जेल प्रशासन ने अनुमति देने से इनकार कर दिया. माना जा रहा था कि ओवैसी इस दौरे के जरिए गुजरात से उप्र में वोट साधने की कोशिश करेंगे.

अतीक की पत्नी ने ली  AIMIM की सदस्यता

ओवैसी की पार्टी उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव लड़ने का ऐलान कर चुकी है. साथ ही ओवैसी ने भी साफ कर दिया है कि उन्हें अतीक अहमद और मुख्तार अंसारी जैसे नेताओं को टिकट देने में कोई दिक्कत नहीं है. पिछले दिनों जेल में बंद अतीक अहमद की पत्नी शाइस्ता परवीन ने ओवैसी की पार्टी का दामन थाम लिया था. इसके बाद से ही एक तरह से यह स्पष्ट हो गया था कि ओवैसी की पार्टी यूपी चुनाव में अतीक अहमद के साथ मिलकर चुनाव लड़ेगी.

इससे पहले AIMIM के प्रदेश प्रवक्ता शमशाद पठान ने कहा, अतीक का परिवार उनकी पार्टी का सदस्य है. ऐसे में ओवैसी अगर अपनी पार्टी से जुड़े परिवार के सदस्य से मिलने जाता है, तो उसमें हर्ज क्या है. अतीक अहमद जेल में रहकर कई बार विधायक और सांसद बने हैं. अब जब वे AIMIM में शामिल हो गए हैं, तो इसमें दिक्कत क्या हो रही है.

कांग्रेस ने कहा, ओवैसी भाजपा की B टीम

गुजरात कांग्रेस के विधायक ग्यासुद्दीन शेख ने इस मुलाकात पर सवाल उठाए थे. उन्होंने कहा, ओवैसी भाजपा की बी टीम हैं. वे मुस्लिमों का वोट बांटने की कोशिश करते हैं. उन्होंने आरोप लगाया था कि हाई सिक्योरिटी जेल में बंद अतीक से मिलने के लिए केंद्र, यूपी और गुजरात सरकार के गृह मंत्रालय से अनुमति की जरूरत है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here