सितंबर में बारिश ने तोड़ा रिकॉर्ड, वैज्ञानिक भी हैरान, देर से विदा होगा मानसून

0
130

 
नई दिल्ली

देश के कई राज्यों में भारी बारिश के कारण जीवन अस्त-व्यस्त हो गया है तो वहीं भारतीय मौसम विभाग के मुताबिक सितंबर महीने में बारिश ने रिकॉर्ड तोड़ दिया है। मात्र 20 दिन के अंदर जिस तरह से बारिश देश के राज्यों में हुई है, उसने वैज्ञानिकों को भी हैरत में डाल दिया है। विभाग के मुताबिक सितंबर में अभी तक सामान्य से 27 प्रतिशत बारिश हो चुकी है और आने वाले 10 दिनों में कई राज्यों में भारी बारिश के आसार हैं।
अगस्त में कई जगहों पर मानसून ने ब्रेक ले लिया था तो कहीं देरी से पहुंचा था, जिसकी वजह से अगस्त के अंत में बारिश में सामान्य से लगभग 9% की कमी देखी गई थी लेकिन सितंबर में बारिश ने सारे हिसाब-किताब को बराबर कर दिया है।
 
मौसम विभाग
आपको बता दें कि अगस्त के महीने में ही मौसम विभाग ने अनुमान जताया था कि इस बार अगस्त-सितंबर में झूमकर बादल बरसेंगे लेकिन किसी को ये अंदाजा नहीं था कि बारिश इस तरह से होगी, जो आम जनजीवन को बुरी तरह से प्रभावित कर देगी।
 
मालूम हो कि बंगाल की खाड़ी में इस वक्त एक लो प्रेशर एरिया बना हुआ है जिससे कि संभावना है कि मानसून की वापसी, जो आमतौर पर 17 सितंबर से शुरू होती है, में देरी हो सकती है। साल 2019 में, दक्षिण-पश्चिम मानसून ने 9 अक्टूबर को वापसी शुरू की थी तो वहीं पिछले साल मानसून की वापसी 28 सितंबर को शुरू हुई थी। आंकड़ों के मुताबिक 1-20 सितंबर तक देश के सभी क्षेत्रों में अत्यधिक वर्षा हुई। मध्य भारत में सामान्य से 71% अधिक और उत्तर पश्चिम भारत में सामान्य से 26% अधिक बारिश देखी गई है।

महानिदेशक मृत्युंजय महापात्र
आईएमडी के महानिदेशक मृत्युंजय महापात्र ने कहा है कि अगले 10 दिनों तक उत्तर भारत से मानसून की वापसी के कोई संकेत नहीं हैं क्योंकि उत्तर पश्चिम भारत से मानसून की वापसी तब होती है जब क्षेत्र में लगातार पांच दिनों तक बारिश की गतिविधि बंद हो जाती है लेकिन अगले 10 दिनों में देश के कई राज्यों में भारी बारिश की आशंका है, ऐसे में मानसून की वापसी अक्टूबर में ही होने के आसार दिख रहे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here